hindi vyakaran me mishr vakya aur saral vakya ka antar kya he?

सरल वाक्य- इस वाक्य में एक विधेय तथा एक उद्देश्य होता है। उदाहरण के लिए-
राम ने खाना खाया।
इस वाक्य में राम ने उद्देश्य है तथा खाना खाया विधेय है।

मिश्र वाक्य- इस वाक्य में एक प्रधान उपवाक्य और दूसरा आश्रित उपवाक्य होता है। यह आपस में व्यधिकरण समुच्चबोधकों (क्योंकि, इसलिए यदि, तो, यद्यपि, तथापि, ताकि, जिससे, मानो) शब्दों से जुड़ा होता है।

उदाहरण के लिए-
पिताजी के चित्र को देखकर लगाता है मानो वह यहीं हैं।

इस वाक्य में मानो अव्यय शब्द से दो वाक्य आपस में जुड़े हुए हैं। अत: यह मिश्र वाक्य है।

  • 1

Saral vakya has only 1 main verb where as mishra vakya is that in which there are more then one mukhya kriya(main verb)

  • 1
What are you looking for?