plz tell me the types sakarmak kriya, their defination and examples

नमस्कार मित्र!
सकर्मक का अर्थ होता स (साथ)+ कर्म = कर्म के साथ अर्थात वह क्रिया जिसमें कर्म होता है। जैसे राम पानी पीता है। इस वाक्य में कर्म पानी है इसलिए यह सकर्मक क्रिया का उदाहरण है।
 
ढेरों शुभकामनाएँ!

  • 2

 Sakarmak Kriya (Transitive Verb) - These cause direct effect on another person/object. These are of two types-

  1. Preranarthak Kriya (Causative Verb)
  2. Dwikarmak Kriya (Verbs with two objects)

Akarmak Kriya (Intransitive Verb) - Have no effect on others  !

  • 2

 the types of Sakarmak kriya are-

1)एककर्मक सकर्मक क्रिया - क्रिया with one कर्म / Object

eg - वह लडका पुस्तक पढ रहा है

Underlined words - क्रिया

पुस्तक is the only कर्म

2)द्विकर्मक सकर्मक क्रिया - क्रिया with two कर्म / Object

eg - पिता ने अपने पुत्र को पैसे दिए

Underlined words - क्रिया

पुत्र and पैसे are two कर्म

eg - पिता ने अपने पुत्र को पैसे दिए।

  • 2

thx but what is prernarthak kriya?

  • 0

dhanya waad

  • 1
What are you looking for?