sakarmak aur akarmak kriya ki pehchan kaise hoti hai? its urgent  plz    anyone....ans  this fast

मित्र जिन क्रिया शब्दों को क्रम की आवश्यकता नहीं होती है वह अकर्मक क्रियाएं कहलाती हैं और जिन्हें कर्म की आवश्यकता पड़ती है वह सकर्मक क्रियाएँ कहलाती हैं जैसे

जैसे सोना, तैरना अकर्मक क्रियाएं हैं और पढ़ना, लिखना सकर्मक क्रिया हैं।

  • 3

 sakarmak kriya me usko khud ka ek object hota hai aur akarmak kriya me nhi.

jaise: ram ne kitab padhi.(akarmak)

ram ne hindi ki kitab padhi.(sakarmak)

sakarmak wale me kitab ke bare me ache se samajh aa rha h isliye yeh sakarmak kriya h

 

HOPE THIS WILL HELP..

  • 1
What are you looking for?