want sme information on kriya visheshan

जिन शब्दों से क्रिया की विशेषता प्रकट होती है। वे क्रिया विशेषण शब्द कहलाते हैं; जैसे- 

दीदी धीरे-धीरे चल रही है। 

इस वाक्य में दीदी की विशेषता का पता नहीं चल रहा है। इस वाक्य में धीरे-धीरे चलने (क्रिया) की अवस्था का बोध हो रहा है। 'चलने' क्रिया शब्द है। अतः धीरे-धीरे क्रिया की विशेषता बता रहा है, जोकि क्रिया विशेषण की विशेषता है। अब नीचे दिए गए कुछ और उदाहरण देखिए- 

1. हाथ जल्दी चलाओ।-----क्रिया विशेषण (जल्दी चलाओ की विशेषता बता रहा है।) 

२. वह एकदम भाग गई।------------क्रिया विशेषण (क्योंकि 'एकदम' भाग गई (भाग और गई क्रिया शब्द हैं।) की विशेषता बता रहे हैं।

क्रिया विशेषण के चार भेद होते हैं-१. रीतिवाचक क्रिया विशेषण, २. कालवाचक क्रिया विशेषण, ३. स्थानवाचक क्रिया विशेषण, ४. परिमाण वाचक क्रिया विशेषण।

१. रीतिवाचक क्रिया विशेषण में क्रिया के होने की विशेषता का पता चलता है। जैसे गाड़ी तेज़ी से जा रही है।

२. कालवाचक क्रिया विशेषण में काल के होने का पता चलता है। जैसे- मैं संध्याकाल में घूमने जाता हूँ।

३. स्थानवाचक क्रिया विशेषण में होने वाले कार्य के स्थान का पता चलता है। जैसे- यहाँ से वहाँ तक मत जाना।

४. परिमाणवाचक क्रिया विशेषण में होने वाले कार्य के परिमाण का पता चलता है। जैसे- सब बच्चे बारी-बारी से आओ।

  • 0
  • 0

kriya vishashan discribes the actions (verbs, example running) it is just like an adjective , and adjective discribes a noun o give it qualities , in the same way adjectives discribe the verbs or kriya for example he is running fast here fast is the adjective and verb is running the adjective 'fast' is discribing that the person is running very fast 

hope it helped :) 

thumbs up pls

  • 0
What are you looking for?