I did not understand AAYADHI SANDHI...Plzz help me out..

मित्र संधि में आप नियम समझने का प्रयास कीजिए। इसकी परिभाषा के स्थान पर समझने का प्रयास कीजिए कि किसके जोड़ से क्या बदलाव हो रहा है-

, ऐ और ओ, औ से परे किसी भी स्वर के होने पर ए का अय्, ऐ का आय्, ओ का अव् तथा औ का आव् हो जाता है, इसे अयादि संधि कहते हैं; जैसे -

1. ए का अय् होना -

+

-

ने

+

अन

=

नयन

2. ए का आय् होना -

+

-

गै

+

अक

=

गायक

3. ओ का अव् होना −

+

-

पो

+

अन

=

पवन

4. औ का आव् होना −

+

-

पौ

+

अक

=

पावक

  • 0
What are you looking for?